मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत में गरीबी, अराजकता, जातिवाद, क्षेत्रवाद और भ्रष्टाचार के लिए कोई जगह नहीं है। इन समस्याओं से देश को हर हाल में मुक्त किया जाएगा। इसके लिए सभी को एकजुट होकर कार्य करना होगा, ताकि देश का विकास हो और एकता एवं अखडण्ता प्रबल रूप से विकसित हों। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के अनुसार विकास का कोई विकल्प नहीं होता है। विकास वर्तमान के साथ-साथ आने वाले पीढ़ी के उज्ज्वल भविष्य के लिए आवश्यक है। उत्तर प्रदेश विकसित हो, सभी को सुरक्षा मिले एवं बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध हो, यह राज्य सरकार की प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री जनपद आजमगढ़ में किसान सहकारी चीनी मिल्स लि. सठियांव की नवनिर्मित आसवनी इकाई के लोकार्पण अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने 56.50 करोड़ रुपए लागत की 30 केएलपीडी क्षमता की नवनिर्मित आसवनी इकाई का लोकार्पण किया। इसके अलावा, उन्होंने 212 करोड़ रुपए की 48 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 340 करोड़ रुपए की कुल 113 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नवनिर्मित आसवनी इकाई बहुत ही महत्वपूर्ण है। इससे किसानों में खुशहाली आएगी, विकास को गति मिलेगी। साथ ही, बेरोजगारों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार चीनी उद्योग को प्राथमिकता देते हुए इसके आधुनिकीकरण हेतु धन की कमी नहीं होने देगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को 25 हजार करोड़ रुपए गन्ना मूल्य का भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 11 लाख परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभान्वित किया गया है तथा वर्ष 2022 तक हर गरीब के पास अपना आवास होगा, इसके लिए सरकार संकल्पित है। किसानों की आय दोगुनी हो, उन्हें सभी सुविधाएं मिलें, इस दिशा में निरन्तर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 37 लाख मी0 टन गेहूं का क्रय प्रदेश में किया गया है। इसके अतिरिक्त, अब तक किसानों से 30 लाख मी0 टन से अधिक धान की खरीद की गयी है। उन्होंने कहा कि यदि कहीं भी किसानों के साथ भेदभाव व अन्याय हुआ, तो सम्बन्धित के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 37 लाख गरीबों को अन्त्योदय एवं पात्र गृहस्थी के तहत राशन कार्ड उपलब्ध कराया गया है। गरीबों का हक छीनने वाले को जेल भेजा जाएगा। कोई गरीब भूख से नहीं मरना चाहिए। यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि हर गांव में कोई गरीब परिवार खाद्यान्न से वंचित न हो। गरीबों को उचित मूल्य पर खाद्यान्न उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने बताया कि अब तक 1 लाख 20 हजार कि0मी0 सड़कों को गड्ढामुक्त किया गया है। विद्युतीकरण का कार्य बिना किसी भेदभाव के सभी जनपदों में कराया जा रहा है। अब तक 23 लाख परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन देने का कार्य किया गया है। विकास की प्रक्रिया में भेदभाव व पक्षपातपूर्ण रवैये के लिए कोई जगह नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अराजकता व भ्रष्टाचार पैदा करने का प्रयास करने वाले के साथ सरकार सख्ती से निपटेगी। प्रदेश की 22 करोड़ जनता को सुरक्षा प्रदान करने का दायित्व सरकार गम्भीरता से निभा रही है। इसके अतिरिक्त, किसानों के साथ-साथ नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बड़े पैमाने पर पुलिस विभाग में भर्ती की कार्यवाही की जा रही है। इसके अतिरिक्त बड़ी संख्या में शिक्षकों की भी भर्ती होगी, ताकि प्रतिभावान युवाओं को लाभ मिल सके। भर्ती पूरी तरह पारदर्शी एवं निष्पक्ष होगी और इसमें कहीं भी गड़बड़ी पाई गई, तो दोषियों को सीधे जेल भेजा जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3,250 लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र दिया गया

इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3,250 लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र दिया गया। मुख्यमंत्री ने स्वयं 5 लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र प्रदान किए। इसके तहत लाभार्थी को 1 लाख 20 हजार रुपए की धनराशि दी जाती है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत लाभार्थियों हेतु 91 लाख रुपए की धनराशि का डेमो चेक मुख्यमंत्री जी द्वारा दिया गया। इसके अतिरिक्त, शहरी आवास योजना के तहत 20 लाभार्थियों को आवंटन प्रमाण-पत्र दिए गए। कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के तहत आर्य मशीनरी बैंक में 03 लाभार्थियों को 08 लाख रुपए का अनुदान, कस्टम हायरिंग में 01 लाभार्थी को 04 लाख रुपए का अनुदान, रिपर कम्बाइन्डर में 01 लाभार्थी को 01 लाख रुपए का अनुदान का प्रमाण-पत्र तथा 01 कृषक को मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here