मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शास्त्री भवन में ‘युवा संगम’ वेबसाइट www.yuvasangam.in लाॅन्च की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस वेबसाइट के माध्यम से युवाओं को जोड़कर उनकी सकारात्मक ऊर्जा का उपयोग समाज के उत्थान के लिए किया जाना चाहिए। युवाओं में कुछ नया करने और चुनौतियों का सामना करने की अद्भुत क्षमता होती है, इसलिए उन्हें समाज के विकास से जोड़ते हुए उनकी रचनात्मकता का फायदा उठाया जाना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सुशासन ने लोगों को विकास की प्रक्रिया के केन्द्र में ला दिया है। भारत दुनिया का सबसे युवा राष्ट्र है। भारत के युवा, जो कुल जनसंख्या का 35 प्रतिशत हिस्सा हैं, समाज का सबसे जीवंत और गतिशील हिस्सा हैं और लोकतंत्र व सुशासन में उनकी भागीदारी को कम करके नहीं आंका जा सकता है। युवाओं के पास उर्वर और उत्साही मन होता है, जिसके जरिए उनके अन्दर ताजा और अभिनव विचार आते हैं। यही नहीं, उनके पास आमूल-चूल परिवर्तन लाने की शक्ति भी है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता जतायी कि युवा संगम का उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को उत्तर प्रदेश सरकार के साथ सार्थक संवाद के लिए एक साझा मंच प्रदान करना है।

वेबसाइट के विकासकर्ताओं द्वारा अवगत कराया गया कि युवा संगम आयोजन प्रतियोगिता के रूप में तीन चरणों में किया जाएगा। इसके अन्तर्गत उत्तर प्रदेश के युवाओं को प्रदेश के समक्ष मौजूद 11 सबसे महत्वपूर्ण सामाजिक विषयों के अभिनव समाधान को प्रस्तुत करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। यह विषय होंगे – उत्तम शिक्षा, स्वच्छ उत्तर प्रदेश, कृषि कल्याण, डिजिटल उत्तर प्रदेश, पारदर्शी प्रदेश, स्वस्थ घर परिवार, सुरक्षित प्रदेश, अंत्योदय से सर्वाेदय, जन भागीदारी, कौशल युवा तथा अपना घर।
प्रतियोगिता तीन चरणों में आयोजित की जाएगी – आॅनलाइन प्रतियोगिता, क्षेत्रीय सम्मेलन और समापन महासम्मेलन। यह प्रतियोगिता उत्तर प्रदेश के सभी मूल निवासी जिनकी उम्र 15 से 35 वर्ष के बीच है तथा यूपी के काॅलेजों में पढ़ रहे विद्यार्थियों (उम्र 15 से 35 वर्ष) के लिए खुली है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आई0आई0टी0) कानपुर इस पहल में साझीदार है।
आॅनलाइन प्रतियोगिता के तहत सभी टीम आॅनलाइन प्रेजेन्टेशन के जरिए 11 में से किसी एक विषय के बारे में अपने समाधान प्रस्तुत करेंगी, जबकि क्षेत्रीय सम्मेलन के अन्तर्गत आॅनलाइन प्रतियोगिता में से चयनित टीम्स क्षेत्रीय सम्मेलन में अपने समाधान प्रस्तुत करेंगी। इस क्षेत्रीय सम्मेलन में राज्य का नेतृत्व वर्ग, वरिष्ठ अधिकारी और विषय से सम्बन्धित विशेषज्ञ भी हिस्सा लेंगे। उत्तर प्रदेश को कुल 6 क्षेत्रों में विभाजित किया गया है। क्षेत्रीय सम्मेलन नोएडा, आगरा, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी और गोरखपुर में आयोजित किए जाएंगे।
समापन महासम्मेलन में क्षेत्रीय सम्मेलन में चुनी गईं सर्वश्रेष्ठ टीम्स प्रतियोगिता के फाइनल में प्रदेश के नेतृत्व के समक्ष अपने समाधान पेश करेंगी। यह समापन महासम्मेलन ‘यू0पी0 दिवस’ के अवसर पर लखनऊ में आयोजित किया जाएगा। यह प्रतियोगिता 29 दिसम्बर, 2017 से 24 जनवरी, 2018 तक चलेगी। प्रतियोगिता में भाग लेने के इच्छुक युवा इसके वेबसाइट www.yuvasangam.in पर लाॅग कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Pic courtesy: www.yuvasangam.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here