गुरुग्राम जिला को पॉलीथिन मुक्त बनाने की दिशा में पटौदी खण्ड के खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी अरूण कुमार यादव तथा मुख्य मंत्री की सुशासन सहयोगी गुजंन गहलोत की अध्यक्षता में सरपंचो की बैठक आयोजित की गई।
मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी गुजंन गहलोत ने इस अवसर पर बताया कि पॉलीथिन का प्रयोग करने से हमारी प्रकृति को आज बहुत नुकसान हो रहा है। आज पॉलीथिन के कारण बहुत से वन्य जीवों की प्रजातियों के जीवन को खतरा उत्पन्न हो रहा है क्योंकि वे इन्हें खाने की चीज समझकर इसे खा लेती हैं और उनकी मृत्यु हो जाती है। पॉलीथिन बैग नॉन बायोग्रेडेबल है जिसे विघटित होने मे सैंकड़ो वर्ष लग जाते हैं।
उन्होंने कहा कि जिला को पॉलीथिन मुक्त बनाने के लिए युवा शक्ति को भी आगे आकर पहल करने की आवश्यकता है। यदि युवा पीढ़ी यह संकल्प धारण कर ले कि वे ना तो स्वयं पॉलीथिन का इस्तेमाल करेंगे और ना ही दूसरे लोगों को ऐसा करने देंगे तो इस समस्या को काफी हद तक समाप्त किया जा सकता है। उन्होंने सरपंचों से अपील करते हुए कहा कि वे सामान लाने के अधिक से अधिक जूट के थैलों का इस्तेमाल करें और अपने आस पास के लोगों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।
अंत में मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी गुजंन गहलोत ने सरपंच ग्राम पंचायत गोरियावास रीटा देवी सरपंच सहित सभी सरपंचो को पोलिथीन का प्रयोग ना करने के बारे में शपथ दिलाई।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here