हरियाणा टूरिज़्म कॉर्पोरेशन के चेयरमैन जगदीश चोपड़ा ने कहा कि गुरू गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव के समापन पर उनकी जन्मस्थली पटना साहिब (बिहार) को हरियाणा से दो विशेष रेलगाड़ियां 22 दिसंबर को जाएंगी, जिनमे जाने के इच्छुक श्रद्धालुओं का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है I इस रजिस्ट्रेशन के लिए प्रत्येक जिला में सिटी मजिस्ट्रेट को नोडल अधिकारी नियुक्त किया हुआ है I पटना को यह यात्रा बिलकुल निशुल्क होगी, इसका सारा खर्च हरियाणा सरकार वहन कर रही हैI

चोपड़ा गुरूग्राम के लोक निर्माण विश्राम गृह में मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत कर रहे थे I उनके साथ हरियाणा खादी ग्र्रामोद्योग बोर्ड की चेयर पर्सन श्रीमती गार्गी कक्कड़, भाजपा जिला अध्यक्ष भूपेन्दर चौहान, भाजपा  जिला महामंत्री मनोज शर्मा व अनिल गंडास , भाजपा मीडिया सह प्रभारी जितेन्दर चौहान, नगर निगम पार्षद कुलदीप यादव भी मौज़ूद थे I
चोपड़ा ने बताया कि पटना गुरु गोबिंद सिंह जी की जन्म स्थली है और वहां पर 23 से 25 दिसम्बर 2017 तक आयोजित किये जा रहे राष्ट्रीय स्तर के समारोह में श्रद्धालुओं को ले जाने के लिए हरियाणा सरकार ने दो विशेष रेलगाड़ियों का प्रबंध किया हैl ये रेलगाड़ियां 22 दिसंबर को अम्बाला तथा सिरसा से चलेंगी। उन्होंने कहा की यात्रा के दौरान 4 समय के भोजन की व्यवस्था भी  हरियाणा सरकार ने कर दी हैl  पटना साहिब में हरियाणा से जाने वाले श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था भी की जा रही है l
एक सवाल के जवाब में चोपड़ा ने बताया कि हरियाणा से जाने वाली विशेष ट्रेनों में 22 – 22 बोगी होंगी और प्रत्येक बोगी में 72 श्रद्धालु बैठ सकेंगे I इस प्रकार कुल मिलाकर लगभग 3500 श्रद्धालु हरियाणा से पटना जा सकेंगे और श्रद्धालुओं के लिए इस प्रकार की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा पहली बार की गयी है I ये सभी श्रद्धालु 23 से 25 दिसंबर तक गुरु साहब की पवित्र जन्म स्थली पर समारोह में भाग ले सकेंगे और फिर 26 दिसंबर को प्रात 10 बजे विशेष रेल गाड़िया वापसी के लिए पटना से चलेंगी I उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए प्रत्येक बोगी में 2 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे जिनमे एक महिला तथा एक पुरुष होगाl
उन्होंने गुरुग्राम जिला से पटना साहिब जाने के इच्छुक श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि वे इस बारे में अपना फार्म भरकर नोडल अधिकारी सिटी मजिस्ट्रेट मनीषा शर्मा के कार्यालय में जमा करवाएंl चोपड़ा ने कहा कि फॉर्म बहुत ही सिंपल है, उसमे एक फोटो, आधार कार्ड की कॉपी या कोई अन्य आई डी प्रूफ देना होगाI उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि  इस यात्रा में कोई ज्यादा बुजुर्ग या गंभीर रूप से  बीमार या छोटे बच्चों की माताएं या ऐसा कोई व्यक्ति जिसे सहारे की जरूरत हो , ऐसे व्यक्ति वहां जाने से परहेज करें क्योंकि उन्हें सफर में तथा वहां पटना में भीड़ में दिक्कतें हो सकती है l
उन्होंने बताया कि  दो रेल गाड़ियों में से एक रेलगाड़ी 22 दिसंबर को अंबाला से तथा दूसरी रेलगाड़ी सिरसा से पटना के लिए रवाना होगी l इन रेलगाड़ियों के  वहां से निकलने का समय प्रातः 10:00 बजे रखा गया है l
अंबाला से चलने वाली रेल गाड़ी वाया कुरूक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत और दिल्ली होते हुए  23 दिसंबर को दोपहर 3 बजे पटना पहुँचेगी । दूसरी, सिरसा से चलने वाली रेलगाड़ी वाया हिसार, भिवानी, रोहतक और दिल्ली होते हुए 23 दिसंबर को सांय 5 बजे पटना पहुंचेगी। प्रत्येक बोगी के बाहर जिला के नाम का बैनर लगा होगा ताकि श्रद्धालुओं को अपने जिले की बोगी ढूंढने में कठिनाई ना होl प्रत्येक जिला से 140 श्रद्धालुओं का चयन इस यात्रा में जाने के लिए किया जाएगा और जिस जिला से श्रद्धालुओं के आवेदन कम आएंगे उसमें अन्य जिलों के श्रद्धालुओं को एडजस्ट किया जाएगाl इसलिए श्रद्धालुओं से उन्होंने अनुरोध किया कि वे अपने आवेदन जल्द से जल्द भर कर दें ताकि यह पता चल सके कि किस जिला से कितने श्रद्धालु पटना जाने के इच्छुक है और उसी अनुरूप बोगियों में उनके बैठने की व्यवस्था की जा सकेl
उन्होंने कहा कि इन विशेष रेल गाड़ियों में एक डाक्टरों की टीम भी होगी। रेलवे पुलिस के कर्मचारी भी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। चोपड़ा ने सभी श्रद्धालुओं से आग्रह किया कि वे इस यात्रा के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा प्रचार करवायें।उन्होंने कहा कि श्रध्दालुओं के पटना साहिब में ठहरने तथा वापिस लाने के प्रबंध राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे हे ।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here