एमएसएमई-विकास संस्थान, भारत सरकार, जयपुर द्वाराजयपुर फूडटेक 2017के चौथे संस्करण का रविवार को अंतिम दिन है। एमएसएमई के स्थानीय निदेशक एमएस सारस्वत ने बताया कि शनिवार को केन्द्र व राज्य सरकार के कार्यालयों में अवकाश होने से फूड टेक में जयपुरवासियों का तांता लगा रहा। उन्होंने बताया कि इस प्रदर्शनी में नवीनतम प्रौद्योगिकी, मशीनरी, पैकेजिंग, भण्डारण, उत्पादों के प्रदर्शन हेतु देश के 09 राज्यों के एक्जीबिटर्स द्वारा तीन डोम में 125 स्टॉल्स लगाई गई हैं।
एक्सपो में विभिन्न राज्यों के स्टॉल होल्डर्स द्वारा खाद्य उत्पादों जैसे किडेयरी, बेकरी, हर्बल, चाय-कॉफी, खाद्य तेल, मसाले, सोया उत्पाद, पास्ता, चीज़, प्रोटीन व अन्य हेल्थकेयर उत्पाद, ओर्गेनिक फूड, कन्फेक्शनरी, जूसेस, गेहूं-चावल, दाल आधारित उत्पाद, नमकीन, रोस्टेड स्नेक्स, ड्राई-फ्रूट, फ्रूट व वेजीटेबल प्रोसेस्ड उत्पादों आदि का प्रदर्शन किया गया। साथ ही फूड प्रोसेसिंग प्लान्ट, पैकेजिंग मशीनरी, पेपर कप मशीनरी, डेयरी मशीनरी, आईसक्रीम मशीन, पापड़ मेकिंग मशीन, फ्लोर मिल, बेकिंग ओवन, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, वेजीटेबल प्यूरी फायर मशीन, वेंडिंग मशीन, बोटल जूस पैकिंग मशीन, फूड टेस्टिंग इक्यूपमेंटआदि की भी स्टॉल्स लगाई जा गई हैं। इस एक्सपो में स्वरोजगार परामर्श सेवायें, आईपीआर, गवर्नमेंट रेगूलेटरी बॉडीज़, बैंकिंग, वित्तीय संबंधी जानकारी भी प्रदान की जा रही हैं।
एमएसएमई कि उपनिदेशक विकास गुप्ता व प्रदीप औझा ने बताया कि दूसरे दिनांक 2 दिसंबर को संस्थान परिसर के सभागार में वेण्डर डवलपमेंट प्रोग्राम के दूसरे सत्र का आयोजन किया गया। इस प्रोग्राम की अध्यक्षता संस्थान के निदेशक एम.के. सारस्वत ने की । उन्होंने बताया कि वैश्विक स्तर पर प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के विपणन व उत्पादन में प्रतिस्पर्धा में बने रहने के लिये नवीनतम उत्पादन की नवीनतम तकनीकों एवं पैकेजिंग का प्रयोग करना चाहिये। विपणन के विभिन्न नवीन स्रोतो का उपयोग करके भी बाजार में बने रहा जा सकता है। उद्योग में निवेश करने के इच्छुक व्यक्तियों एवं वर्तमान उद्यमियों के लिये बी-2-बी एवं बी-2-सी के माध्यम से यह एक सुनहरा अवसर प्रदान करेगी।
तकनीकी सत्र के दौरान संस्थान के उपनिदेशक एवं विषय विशेषज्ञों द्वारा उपस्थित व्यक्तियों के द्वारा पूछे गये प्रश्नों के उत्तर प्रदान किये गये। एक्सपो के दूसरे दिन भी प्रोफेशनल शैफ द्वारा नाना प्रकार के कोंटीनेंटल कुज़िन व भारतीय व्यंजनों का लाईव डेमो भी किया गया। महिलाओं द्वारा लाईव डेमो के माध्यम से कोंटीनेंटल एवं भारतीय व्यंजन बनाने की विधि भी सीखते हुए भोफ से इनके बारे में प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासाओं का हल निकाला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here