नेहरू युवा केंद्र द्वारा अंतर्राष्ट्रीय एड्स दिवस के अवसर पर एड्स जागरूकता के विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। यह कार्यक्रम सुशांत लोक के गवर्नमेंट प्राइमरी स्कूल में कराया गया।
इस कार्यक्रम में बच्चों को तथा स्कूल के स्टाफ को एड्स के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। कार्यक्रम में बताया गया कि यह बीमारी किस तरह से होती है और इससे हम कैसे बचाव कर सकते है। इस मौके पर स्कूल के बच्चों ने एड्स का सिंबल बनाया तथा यह शपथ ली कि वह यह जानकारी अपने अपने घर में तथा दूसरे लोगों को भी देंगे। इसी प्रकार एक अन्य कार्यक्रम हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसाइटी व नेहरु युवा केंद्र के संयुक्त तत्वाधान में नागरिक अस्पताल सोहना में कराया गया। इस मौके पर काउंसलर श्री दीपक महरोली ने एड्स के संपूर्ण जानकारी के बारे में बताया। गांव रामपुरा में रेल प्रोजेक्ट साइट पर मजदूरों को एड्स के बारे में जानकारी दी गई और उसके बचाव व उपाय के बारे में बताया गया । श्री दीपक ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि एचआईवी अर्थात ह्यूमन इम्यून डेफिशियेंसी वायरस एक विषाणु है जिसके संक्रमण से व्यक्ति एक नामक बीमारी से ग्रस्त हो जाता है। एचआईवी असुरक्षित यौनसंबंध, संक्रमित सुई से, संक्रमित रक्त से , संक्रमित गर्भवती स्त्री से उसके होने वाले नवजात शिशु को भी एड्स हो सकता है। उन्होंने बताया कि एचआईवी एड्स सामान्य संपर्क जैसे हाथ मिलाने , साथ में खाना खाने से या एक ही बर्तन का इस्तेमाल करने से मच्छर के काटने से नहीं होता है।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here