मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केन्द्र शासित राज्य दमन और दीव के उद्योगपतियों, निवेशकों एवं व्यापारियों को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया है। उन्होंने 21 एवं 22 फरवरी, 2018 को प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रस्तावित उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट, 2018 में भाग लेने का आमंत्रण देते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश की वर्तमान सरकार ने निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। उन्होंने निवेशकों को आश्वस्त किया है कि उन्हें हर सम्भव सहयोग प्रदान किया जाएगा।

यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने दमन और दीव की राजधानी दमन में उद्योगपतियों एवं निवेशकों से मुलाकात कर उन्हें उक्त समिट में भाग लेने का आमंत्रण दिया है। उन्होंने कहा कि इस समिट में बड़ी संख्या में देश-विदेश के निवेशक, उद्यमी, बैंकर्स व अन्य प्रतिनिधि भाग लेंगे।

मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए उत्तर प्रदेश औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति, 2017 को लागू कर इसके माध्यम से निवेशकों को कई प्रकार के प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश को देश का सबसे बड़ा बाजार बताते हुए कहा कि निवेशकों की सुविधा के लिए राज्य निवेश प्रोत्साहन बोर्ड का गठन किया गया है, जिसमें कई उद्योगपतियों को भी सम्मिलित किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य की कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ-साथ तेजी से आधारभूत सुविधाओं का विकास किया जा रहा है। उन्होंने बैठक में बताया कि उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में इन्फ्रास्ट्रक्चर, डेयरी, नागरिक उड्डयन, खाद्य प्रसंस्करण, पर्यटन, आई0टी0, लघु एवं मध्यम उद्योग व ऊर्जा क्षेत्र में निवेश की अपार सम्भावनाएं हैं। उन्होंने निवेशकों को आश्वस्त किया कि प्रदेश के बड़े बाजार व राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे निवेश फ्रेण्डली माहौल के फलस्वरूप राज्य में उनका निवेश लाभकारी सिद्ध होगा।

भेंट के दौरान उत्तर प्रदेश डेवलपमेन्ट फोरम के प्रेसीडेन्ट, ओपी तिवारी, महासचिव पंकज जैसवाल, राज नारायण तिवारी (सेवा एवं विनिर्माण उद्योगपति), केएम श्रीवास्तव (विनिर्माण उद्योगपति), राजेश सिंह (सेवा एवं विनिर्माण उद्योगपति), मुन्ना तिवारी (सेवा सेक्टर), राम सिंह (विनिर्माण उद्योगपति), सतीश त्रिपाठी (विनिर्माण उद्योगपति),  रविन्द्र सिंह (पर्यटन उद्यमी), नीलम तोमर (विनिर्माण उद्यमी), एम सिंह (व्यापारी), एफ0एस0 त्रिपाठी (विनिर्माण उद्योगपति), कपिल तिवारी (मीडिया एवं विनिर्माण), अखिलेश सिंह (सेवा एवं विनिर्माण उद्यमी), आदित्य मोहन (फूड चेन), जितेश जैसवाल (विनिर्माण उद्योगपति) तथा शैलेन्द्र सिंह (विनिर्माण उद्योगपति) उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here