परिवार कल्याण मंत्री ने चिकित्सालयों के सभी संबंधित अधिकारियों से जानकारी लेकर कड़े निर्देश दिए। उन्होंने 102 एम्बुलेन्स सेवा व्यवस्था में अकारण हो रहे विलम्ब पर भी नाराजगी जाहिर की।
ज्ञात हो कि परिवार कल्याण मंत्री ने अखबारों में प्रकाशित स्वास्थ्य सेवाओं की लापरवाही से प्रसूता एवं शिशु की मृत्यु के समाचार को गम्भीरता से लेते हुए स्वयं मृतका के परिवार से भेंट कर सम्पूर्ण प्रकरण की जानकारी ली। प्रो0 जोशी ने चंदन नगर, नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर मृतक प्रसूता के समस्त अभिलेखों की जाँच की। चंदन नगर यू0सी0एच0सी0 पर डी0 जी0 परिवार कल्याण डा0 नीना गुप्ता, निदेशक डा0 सुरेश चन्द्रा, सी0एम0ओ0 लखनऊ डा0 जी0 एस0 बाजपेई तथा इस प्रकरण की जाँच कर रहे डा0 अनूप कुमार श्रीवास्तव स्वयं उपस्थित थे।
परिवार कल्याण मंत्री ने नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, चंदन नगर की अधीक्षिका डा0 प्रीति सिंह तथा गर्भवती का इलाज कर रहीं डा0 रेनू सान्याल से प्रकरण की जानकारी लेते हुए पूछा कि जब श्रीमती रंजना पांडेय (मृतका) एक हफ्ते से लगातार आपके सम्पर्क में थी और यह जानते हुए भी कि प्रसव की सम्भावित तारीख निकल चुकी है तब आपरेशन आदि की समस्त सुविधाओं से सम्पन्न इस सी0एच0सी0 पर ही मृतका को समय से प्रसव हेतु आपरेशन आदि की अन्य सुविधाएं क्यूँ नहीं दी गई। उन्होनें डा0 रेनू सान्याल से जानना चाहा कि मृतका की सभी स्थितियाँ जब नार्मल थी तब उन्होंने स्वयं सेवाएँ न देकर उसे ‘‘ हायर सेन्टर’’ पर क्यूँ रिफर किया तथा रिफर करने पर ‘102 एम्बुलेंस सेवा’’ क्यूँ नहीं उपलब्ध करायी।
डा0 सान्याल द्वारा उचित कारण न बता पाने से असन्तुष्ट परिवार कल्याण मंत्री ने डफरिन (अवन्तीबाई) अस्पताल की निदेशक डा0 सविता भट्ट से मृतक प्रसूता के संदर्भ में पूरी जानकारी ली और यह भी जानना चाहा कि चिकित्सालय की समस्त व्यवस्थाओं तथा प्रसव करानें में सक्षम होने के बाद भी प्रसूता को क्वीनमेरी हास्पिटल क्यों रिफर किया गया। उन्होनें क्वीनमेरी की मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डा0 जैसवार से भी पूरे केस विवरण पर विस्तार से जानकारी ली और मृतका की पूरी फाइल सीलबन्द कर डी0 जी0 कार्यालय प्रेषित करने का निर्देश दिया।
परिवार कल्याण मंत्री ने पूरे प्रकरण को संज्ञान में लेते हुए चंदन नगर यू0सी0एच0सी0 (नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र) की महिला चिकित्सक डा0 रेनू सान्याल को तत्काल स्थानान्तरित करने तथा कमेटी गठित कर तीन दिन में जाँच पूरी कर कार्यवाही करने का निर्देश दिया।
उन्होनें यह भी निर्देश दिया कि डा0 रंजना भारती को तत्काल चंदन नगर नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर कार्य-भार ग्रहण कराया जाए, जिससे उक्त नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर स्वास्थ्य सेवाएँ अवरोध रहित एवं बेहतर हो सके। डा0 रंजना भारती को लगभग दो माह पूर्व चंदन नगर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर स्थानान्तरित किया जा चुका है।
उक्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भर्ती एक अन्य प्रसूता ने मंत्री को अवगत कराया कि उसका बच्चा बेहद कमजोर पैदा हुआ है, जिसे कंगारू मदर केयर हेतु अवंती बाई चिकित्सालय ले जाने के लिए रिफर किया गया है। प्रसूता ने शिकायत की कि प्रातः 10ः00 बजे से 102 एम्बुलेंस सुविधा माँगी गयी, किन्तु अभी तक उपलब्ध नही हो पायी है। शिकायत पर सख्त प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मंत्री परिवार कल्याण ने 102 एम्बुलेंस सेवा को स्वयं फोन कर कड़ी फटकार लगाई जिसके 15 मिनट उपरान्त एम्बुलेंस अस्पताल पहुँच गयी। एम्बुलेन्स सेवा में अकारण हुए इस विलम्ब पर मंत्री प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी ने सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए एम्बुलेंस सेवा को अविलम्ब दुरस्त करने का निर्देश दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here