सामाजिक एवं औद्योगिक विकास की दर बढ़ाने हेतु देश की नामी इण्डस्ट्रीयश एसोसिएशन फिक्की के सहयोग बेहतर कार्य योजना बनायी जायेगी। प्रदेश में इनोवेशन को बढ़ाने, स्टार्टअप इको सिस्टम को मजबूत करने में और प्रदेश के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में युवाओं के लिये रोजगार के नये अवसर सृजित कराये जायेंगे। बेहतर कार्य योजना बनाने हेतु आई0आई0टी0 कानपुर का भी सहयोग प्राप्त किया जायेगा।

प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में फिक्की एसोसिएशन के वरिष्ठ प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हाईटेक इनोवेशन सेण्टर कानपुर एवं नोएडा में प्रारम्भ कराने हेतु परीक्षण कराकर नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही समय से पूर्ण करायी जाये।
राजीव कुमार ने कहा कि ग्रामीण तकनीक को बढ़ावा देने हेतु ग्रामीण इनोवेशन कार्य हेतु गोरखपुर व बनारस में विशेष कार्य करने हेतु आवश्यक कार्य योजना बनायी जाये।
उन्होंने यह भी कहा कि गवर्नेन्स इनोवेशन पर कार्य करने हेतु सोशल इनोवशन सेण्टर लखनऊ में प्रारम्भ कराया जाये, जो शासकीय कार्यों में इनोवेशन लाने के लिये उपयोगी होगा।
उल्लेखनीय है कि फिक्की 90 वर्ष पुरानी संस्था है, जो विगत 10 वर्षों से इनोवेशन इको सिस्टम में अग्रणी है। भारत सरकार, (डीएसटी), USAID, UKAID जैसी आर्गनाइजेशन के साथ इनोवेशन फण्ड मिलेनियम एलायंस चलाने का अच्छा अनुभव है। इस फण्ड के द्वारा अब तक करीब 65 लाख लोगों को इनोवेशन्स के माध्यम से फायदा पहुंचाया गया है। इसी प्रकार फिक्की पिछले 10 सालों से इण्डिया इनोवेशन ग्रोथ प्रोग्राम के माध्यम से इनोवेटिव टेक्नोलाॅजीज को प्रोत्साहित और उन्हें देश और विदेश में मार्केट में पहुंचाने में सहायता कर रही है।

बैठक में अपर मुख्य सचिव आईटी/नियोजन संजीव सरन, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा, संजय अग्रवाल, प्रमुख सचिव गन्ना एवं चीनी उद्योग, संजय भूसरेड्डी, सचिव औद्योगिक विकास श्रीमती अलकनंदा दयाल सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण एवं फिक्की के सदस्य डाॅ0 निखिल अग्रवाल, को-चेयर, योगेश अंदलय तथा स्किल्स गैप सोल्यूशन प्रा0लि0 के निदेशक सहित अन्य सदस्यगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here