प्रतिभा एक ऐसा वरदान है जो हजारों लाखों में किसी एक को ही मिलता है। राजकीय महाविद्यालय सैक्टर 9 के विद्यार्थी राजीव रंजन को भी यह वरदान गीत रचना और संगीत के रूप में मिला है। महिला सशक्तिकरण पर आधारित राजीव द्वारा लिखित एवं संगीतबद्ध गीत ‘एक ख्वाहिश है मेरी मैं उड़ना चाहूं, इस दुनिया में मैं अपना हक पाना चाहू/ ना रोके मुझे कोई कुछ भी ना पूछे, मैं बढ़ती ही जाउं आंखों को मीचें’ को एक प्रतिष्ठित समाचार चैनल द्वारा आयोजित संगीत समारोह में सम्मानित किया गया। बीएस सी प्रथम वर्ष में पढ़ने वाले राजीव को कैप्टन राजकुमार द्वारा लिखित उर्दू नज्म ‘झूठे रिश्तों की फसल हम बोया नहीं करते’ गाने पर क्षेत्रीय युवा उत्सव में द्वितीय पुरस्कार मिल चुका है।
गिटार, हारमोनियम और की-बोर्ड बजाने में पारंगत राजीव रंजन पिछले पांच सालों से हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत का अध्ययन कर रहे हैं।
राजीव ने बताया कि वह अपनी गुरु हरनी कपूर के आशीर्वाद के कारण ही गीत-संगीत की दुनिया में आगे बढ़ पा रहे हैं। हालांकि राजीव ने किसी वाद्य यंत्र की औपचारिक शिक्षा हासिल नहीं की है। उन्होंने कहा कि 2015 में एक गीत प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हासिल करने पर उन्हें हारमोनियम पुरस्कार स्वरूप मिला और स्वयं ही उन्होंने उसे बजाना सीख लिया। राजीव ने कहा कि उनका परिवार आर्थिक तौर पर समृद्ध नहीं है लेकिन उनके पिता जहां तक संभव हो सके उन्हें सहयोग देते हैं। उन्होंने अपनी उपलब्धियों का श्रेय माता-पिता एवं शिक्षकों को दिया। उन्होंने कहा कि संगीत उनका जीवन है तथा वह अपना भविष्य संगीत के क्षेत्र में ही निर्मित करेंगे। आने वाली पीढ़ी जो संगीत में भविष्य तलाश रही है, के लिए राजीव ने संदेश दिया कि आजकल का फिल्मी संगीत भारतीय संगीत को हानि पहंुचा रहा है। संगीत पूजनीय है तथा इसे अच्छे तरीके से सीखने की कोशिश करनी चाहिए।
इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डाॅ. इन्दु जैन ने कहा कि कला के क्षेत्र में एक उज्ज्वल भविष्य का निर्माण किया जा सकता है हालांकि इस क्षेत्र में परिश्रम अधिक है लेकिन सफलता उससे कहीं अधिक प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि राजीव रंजन ने संगीत के क्षेत्र में उपलब्धियां हासिल कर महाविद्यालय का नाम रोशन किया है। महाविद्यालय को राजीव जैसे कला के क्षेत्र में साधना करने वाले विद्यार्थियों पर सदैव गर्व रहेगा।
इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापकों ने राजीव रंजन को उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here