यशोदा हॉस्पिटल, नेहरू नगर ने आज 19 नवम्बर को गाजियाबाद में पहली बार बिना ऑपरेशन के घुटने के पुराने दर्द से छुटकारा पाने हेतु चिकित्सा शिविर लगाया. डॉ आशु त्यागी ने मरीजों को परामर्श दिया तथा बताया की १०० से भी ज्यादा मरीजों ने इस कैंप में भाग लिया.

डॉ आशु त्यागी के अनुसार यह ट्रीटमेंट हम प्रोलोथिरैपी (पी.आर.पी.) विधि से करते हैं, जो मात्र 10 मिनट का प्रोसीजर होता है तथा मरीज को भर्ती की कोई आवश्यकता नहीं होती, इसका कोइ साइड इफ़ेक्ट नहीं होता. अगर मरीज अपना घुटना नहीं बदलवा सकते तो इस विधि से उनको 5 -6 साल तक घुटने के दर्द से निजात मिल जाता है और वापस चल फिर सकते हैं.

अन्य विधियां आर.एफ. एब्लेशन, ओजोन थिरैपी भी हैं, जो नवीनतम एवं टेस्टेड, सर्टिफाइड टेक्निक हैं, इन विधियों का उपयोग घुटने के इलाज अलावा अन्य जोड़ों के दर्द सेनिजात पाने के लिए भी किया जाता है. कैंप का संचालन यशोदा हॉस्पिटल के मार्केटिंग हेड गौरव पांडेय, अरविदं, संजीव त्यागी, अजय चौधरी, आरती भाटिया व् आशीषअग्रवाल ने कियाI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here