महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए गुरुग्राम में ‘थिंक बिग-विमेन इन बिजनेस’ समिट का आयोजन किया गया जिसमें देश-विदेश से लगभग 1,500 महिला उद्यमियों ने भाग लिया। समिट के उद्घाटन के लिए केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु को आना था लेकिन वे किसी कारणवश नही आ पाए और उन्होंने महिला उद्यमियों के लिए अपना वीडियो मैसेज भेजा जिसमें प्रभु ने कहा कि हमें ना केवल ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की स्थिति सुधारनी है बल्कि बिजनेस में ज्यादा से ज्यादा लैंगिक समानता लाने की दिशा में काम करना है।
उन्होंने कहा कि महिलाएं हर क्षेत्र में जैसे बैंकिंग, फाइनेंस, पेय पदार्थों आदि में अग्रणी है और बड़े व्यापारिक प्रतिष्ठानों को कुशलता से संभाल रही हैं। उन्होंने कहा कि महिलाएं सफल उद्यमी सिद्ध हो रही हैं। उन्होंने इस समिट की प्रतिभागियों को बधाई दी।
समिट में अपने विचार रखते हुए गुरुग्राम के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने हरियाणा विशेषकर गुरुग्राम को निवेश के लिए उद्यमियों की पहली पसंद बताते हुए महिला उद्यमियों का आह्वान किया कि वे भी हरियाणा में अपने उद्योग लगाएं। उन्होंने हरियाणा सरकार की उद्यम प्रोत्साहन नीति-2014 तथा ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस के बारे में विस्तार से चर्चा की और बताया कि हरियाणा अब ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस के क्षेत्र में निरंतर बेहतरी की ओर है। अब हरियाणा ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में देश में पहले पांच स्थानों में आ गया है।
सिंह ने कहा कि ईज़ ऑफ डूईंग बिजनेस के अंतर्गत एक छत के नीचे उद्यमियों की सभी समस्याओं को दूर किया जा रहा है और समयबद्ध तरीके से क्लीयरैंस दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा सेफ्टी ऑडिट करवाया जा रहा है और इस ऑडिट में जहां भी सुरक्षा संबंधी कमियां मिलेंगी, उन्हें दूर किया जाएगा।
उपायुक्त ने कहा कि युवा पीढ़ी को नए स्टार्ट अप स्थापित करने के लिए राज्य सरकार की ओर से पूर्ण सहयोग दिया जा रहा है ताकि वित्त, कराधान तथा इस दौरान आने वाली सभी अड़चनों को दूर किया जा सके। युवा पीढ़ी नई चुनौती के साथ आगे बढ़े, सफलता निश्चित तौर पर उनके कदम चूमेगी। उन्होंनें स्टार्ट-अप के माध्यम से नवीनतम कार्य करने का आह्वान किया और कहा कि इसके लिए राज्य सरकार द्वारा पूरी सुरक्षा, कार्य करने का माहौल, निवेश के लिए शांतिमय व अनूकुल वातावरण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्टार्ट-अप का मतलब किसी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी को खड़ा करना ही नहीं है बल्कि अपने आस पास की समस्या के समाधान करना भी स्टार्ट अप कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि नए विचारों से ही समस्याओं का निदान किया जा सकता है।
आज आयोजित समिट में कर्नाटक सरकार में अतिरिक्त मुख्य सचिव के रत्नाप्रभा, ग्लोबल मैनेजिंग पार्टनर, टीटीसी के पारूल सोनी, बीडब्ल्यू बिजनेस वल्र्ड मीडिया गु्रप के चेयरमैन एवं एडिटर इन चीफ अनुराग बत्रा, राष्ट्रीय महिला आयोग, भारत सरकार की पूर्व चेयरपर्सन ललिता कुमारमंगलम, गोल्डमैन साच्स(इंडिया)सिक्योरिटीज़ के चेयरमैन सोंजोय चटर्जी, युनाइटिड किंगडम से आए डिपार्टमेंट फार इंटरनेशनल डैव्लपमेंट के हैड गैविन मैकगिलीवरे, यूएनडीपी की कंट्री डायरेक्टर सुश्री मेरिना वाल्टर, वाल्मार्ट इंडिया के सीईओ क्रिस अय्यर तथा वी-कनेक्ट इंटरनेशनल की सीईओ एलिजाबैथ वैस्क्वेज ने भी संबोधित किया।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here