ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट के दूसरे दिन उदयपुर स्थित महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के सीटीएई ग्राउंड में हुई सांस्कृतिक संध्या में एमएफबी बैण्ड के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत सुरीले गीतों ने मौजूद जनसमूह को सम्मोहित कर दिया। गायक श्रीकांत कृष्णमूर्ति ने अपने बैंड के साथ लयबद्ध गीतों की प्रस्तुति दी। उनके गीतों में कहीं राजस्थानी मिट्टी की खुशबू नजर आई, तो कहीं उन्होंने वातावरण को सूफीयाना कर दिया।
श्रीकांत ने जब राजस्थानी मांड के साथ ‘पधारो म्हारे देस‘ सुनाया, तो उनके आरोह-अवरोह पर मौजूद जनसमूह ने जमकर तालियां बजाईं। उन्होंने ‘जय जय कारा, स्वामी देना साथ हमारा‘ गीत से वातावरण को भक्तिमय किया, वहीं ‘श्री गणेश देवा‘ गीत के जरिए बॉलीवुड धुनों पर भी दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। बैंड ने ‘पिया रे पिया रे‘, ‘तेरे बिन क्या वजूद मेरा‘ जैसे गीतों को लयबद्ध तरीके से साज और आवाज के संगम के साथ प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के दौरान ‘मेरा रंग दे बसंती चोला‘ और ‘ये देश है वीर जवानों का‘ जैसे देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति भी आकर्षण का केन्द्र रही।
सुर साधना कार्यक्रम में कृषि एवं पशुपालन मंत्री प्रभुलाल सैनी, उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी सहित विभिन्न जनप्रतिनिधि, अधिकारी व गणमान्य नगारिकों सहित संभाग के विभिन्न अंचलों से आए किसान उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here