इलाहाबाद में उच्च स्तरीय हवाई अड्डे के निर्माण को कुम्भ-2018 के पूर्व पूरा कर लेने के लिए प्रशासन ने अपना लक्ष्य निर्धारित करते हुए कार्यो को तेज़ी से पूरा करने की तैयारी कर ली है। हवाई अड़्डे के सिविल इन्क्लेव के विस्तारीकरण की प्रक्रिया में ज़मीन संबंधी मसलों की पड़ताल करने के लिए मण्डलायुक्त डा आशीष कुमार गोयल ने अपने कार्यालय स्थित गाँधी सभागार में एयरपोर्ट अथारिटी आफॅं इंडिया के वायुसेना के अधिकारी और जिला प्रशासन इलाहाबाद की एक संयुक्त बैठक में स्पष्ट शब्दों में सबको यह हिदायत दी है कि इस निर्माण कार्य को अक्टूबर 2018 के पूर्व इलाहाबाद में उच्च स्तरीय उड़ानों की लैंडिंग और टेकआफ के अनुरुप बनाते हुए हवाई अड्डे का निर्माण एवं विस्तारीकरण का समय से पूरा कर लेना है। मण्डलायुक्त ने उप जिलाधिकारी सदर एवं जिला प्रशासन के अमलों को विस्तारीकरण से जुड़े ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों के भू-अभिलेखों में से उन आवश्यक गाटा नम्बरों को अविलम्ब चिन्हित कर लेने के निर्देश दिये हैं, जिनपर विस्तारीकरण का कार्य किया जाना प्रस्तावित है।
मण्डलायुक्त ने एयरपोर्ट अथारिटी आफॅ इंडिया, जिला प्रशासन और सेना के अधिकारियों के साथ नक्शे पर निर्माण सम्बन्धी क्षेत्र का निरीक्षण करते हुए इसे यथाशीघ्र व्यवहारिक रुप में एक सुसंगत प्रस्ताव के रुप में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं जिसके आधार पर वायुसेना के क्षेत्र से ली जाने वाली भूमि के बराबर भूमि वायुसेना को अन्य स्थान पर लौटाई ला सके। इस हेतु भी एक संसुगत प्रस्ताव यथाशीघ्र उप जिलाधिकारी सदर को मण्डलायुक्त ने दिये हैं।
जिला प्रशासन को इस हेतु सजग करते हुए मण्डलायुक्त ने यह निर्देश दिये हैं कि इस कार्य के किसी भी क्षेत्र में शिथिलता न आने दी जाये तथा निर्माण-कार्य संबंधी समस्त प्रयासों को तीव्रगति से जारी रखा जाये क्योंकि इलाहाबाद में दिव्य एवं भव्य कुम्भ आयोजन के लिए यहॉं उच्च स्तरीय हवाई अड्डे एवं उससे संबंधित भव्य सिविल इन्क्लेव का निर्माण समय से पूरा हो जाना समय की आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here