हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार को प्रदेश में तीन साल दो दिन का समय पूरा हो चुका है और इस कार्यकाल में सरकार ने कितने विकास के काम करवाए है ये बात मुझसे ज्यादा जनता जानती है। उन्होंने दावा किया कि पिछले 40-50 सालों की अपेक्षा इन तीन सालों में विकास कार्य सबसे अधिक हुए है।
वे गुरुग्राम के गांव हयातपुर में ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने आज जिला के तीन गांवो का दौरा कर लगभग डेढ़ करोड़ रूपये से अधिक लागत की परियोजनाओं का शिलान्यास किया तथा 40 लाख रूपये की लागत से तैयार हुई 2 चौपालों व पंचायत घर का उद्घाटन किया।
राव नरबीर सिंह का दौरा कार्यक्रम गांव बामड़ौली से शुरू हुआ जहां उन्होंने करीब 31 लाख रूपये की लागत से तैयार होने वाले सामुदायिक केन्द्र का शिलान्यास किया। इसके बाद वे गांव हयातपुर गए जहां उन्होंने लगभग सवा करोड़ रूपये की लागत से तैयार होने वाले सामुदायिक केन्द्र का शिलान्यास किया व 9 लाख रूपये की लागत से तैयार हुए पंचायत घर का उद्घाटन किया। गांव वजीरपुर में राव नरबीर सिंह ने लगभग 15 लाख रूपये की लागत से तैयार की गई हरिजन चौपाल तथा 13.5 लाख रूपये की लागत से तैयार की गई वाल्मिकी चौपाल का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी व मौके पर उपस्थित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
ग्रामीणों ने लोक निर्माण मंत्री का फूल-मालाओं से भव्य स्वागत किया व उन्हें सम्मान की सूचक पगड़ी भेंट की। गांव हयातपुर में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि हीरो होंडा चौंक पर फ्लाईओवर आज से 20 साल पहले तब बनना चाहिए था जब एनएच-8 बना, लेकिन ऐसा नही हुआ जिसके कारण गुरुग्राम को कई सालों तक ट्रैफिक जाम की समस्या से जूझना पड़ा। भाजपा सरकार ने लोगों की इस समस्या को गंभीरता से लिया और हीरो होंडा चौंक पर फ्लाईओवर बनवाया। इस फ्लाईओवर के नीचे से बनाए जाने वाला अंडरपास भी आगामी एक से डेढ़ महीने मे बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला में सिग्रेचर टावर, राजीव चौंक व महाराणा प्रताप चौंक पर निर्माण कार्य दिसंबर माह के अंत तक पूरा हो जाएगा तथा इफ्को चौंक पर चल रहे निर्माण कार्य को मार्च 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा। इस परियोजना पर लगभग 1,385 करोड़ रूपये की राशि खर्च की गई है।
उन्होंने कहा कि सुभाष चौंक से बादशाहपुर के दूसरी पार ऐलिवेटिड हाईवे बनाने की परियोजना पर 1,897 करोड़ रूपये की राशि खर्च की जाएगी। इस परियोजना का 14 अगस्त को केन्द्रीय मंत्री नितिन गडक़री द्वारा शिलान्यास किया जा चुका है जिसका काम जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा। इस परियोजना के पूरा होने के बाद गुरुग्राम से सोहना का सफर मात्र 18 मिनट में तय किया जा सकेगा। यह हरियाणा के इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी परियोजना है जिसकी सौगात गुरुग्राम को मिली है। उन्होंने कहा कि हरियाणा स्वर्ण जयंती वर्ष मना रहा है लेकिन सही मायनो में देखा जाए तो यह गुरुग्राम के लिए स्वर्ण जयंती वर्ष है क्योंकि इस वर्ष में लगभग 10 हज़ार करोड़ के नए काम शुरू होंगे।
उन्होंने कहा कि गुरुग्राम में प्रदेश का सबसे बड़ा लोक  विश्राम गृह भी बनाया जा रहा है जो दिसंबर माह के अंत तक बनकर तैयार हो जाएगा। इस विश्राम गृह में 100 कमरे बनाए गए है। इसके अलावा, गुरुग्राम में प्रदेश का सबसे अत्याधुनिक सुविधाओं से सुस्सजित टावर ऑफ जस्टिस बनाया जा रहा है जोकि फुली एंयरकंडीशनर होगा। इसके साथ ही गुरुग्राम में नया बस-स्टैंड बनाने के साथ-साथ गांव धनकोट में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का रेलवे स्टेशन बनाने की योजना है जिसके लिए अधिकारियों से औपचारिक बैठकें हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा सारे काम जनहित में किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि ये सभी विकास कार्य केवल इसलिए संभव हो सके है क्योंकि प्रदेश में विकास कार्यों को लेकर मुख्यमंत्री की नियत साफ है। उन्होंने कहा कि मंत्री तो मै पहले भी था लेकिन इतने विकास के काम पहले नही हो सके जितने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों हरियाणा में 4,500 पुलिसकर्मियों की भर्ती की गई जिसमें पूर्णतया निष्पक्षता बरती गई। भर्तियां तो प्रदेश में पहले भी हुई लेकिन योग्यता से आधार पर भर्ती केवल भाजपा सरकार ने की है। इसी प्रकार , प्रदेश में विकास कार्य भी निष्पक्षता के आधार पर करवाए गए है। भले ही प्रदेश के किसी विधानसभा क्षेत्र में विपक्ष की सरकार हो, लेकिन भाजपा ने बिना भेदभाव किए विकास कार्य करवाए हैं। उन्होंने पटौदी विधानसभा क्षेत्र का उदाहरण देते हुए कहा कि पटौदी में सबसे अधिक 250 करोड़ रूपये की राशि को सडक़ निर्माण के लिए खर्च किया गया है।
उन्होंने कहा कि पटौदी रोड़ को नेशनल हाईवे घोषित करवाया जा चुका है लेकिन इस रास्ते को चार लेन का बनाने के लिए 45 मीटर रास्ते की जरूरत पड़ती है जिसके लिए जमीन अधिग्रहण करने की आवश्यकता है लगभग 1380 करोड़ रूपये की इस परियोजना की डीपीआर बनकर तैयार हो चुकी है। इस परियोजना में चार फ्लाईओवर भी बनाए जाएंगे जिसमें से एक उमंग भारद्वाज चौंक, गाढ़ौली, हरसरू, जमालपुर , पटौदी का बाईपास आदि शामिल है। इस नेशनल हाईवे बनने के बाद नारनौल व रेवाड़ी जाने वाले रास्ते और अधिक सुगम हो जाएंगे। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री के साथ भाजपा के जिला अध्यक्ष भूपेन्द्र चौहान, फरूखनगर मार्केट कमेटी के चेयरमैन वीरेन्द्र यादव सहित विभिन्न गांवो के सरपंच भी उपस्थित थे।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhiNCRnews.in bureau

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here