उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा के राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में आयोजित जनसभा के दौरान 173 करोड़ 31 लाख रुपये की जनोपयोगी परियोजनाओं का शिलान्यास किया। उन्होंने 62 करोड़ 53 लाख रुपये की लागत से निर्मित योजनाओं का लोकार्पण भी किया। इस अवसर पर उन्होंने फसल ऋण मोचन योजना, प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन शहरी, ग्रामीण के लाभार्थियों को चेक वितरित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने बिना किसी भेदभाव के शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचाने का काम अल्प समय में किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में प्रदेश के किसानों से ऋण माफी का वादा पूरा किया। प्रदेश के 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रुपये का फसली ऋण मोचन कर किसानों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरी, ग्रामीण गरीबों को पक्का घर मुहैया कराने की दिशा में भी प्रदेश सरकार ने तेजी से कार्य किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच ऐतिहासिक, सुप्रसिद्ध इमारतों से सुसज्जित आगरा को पर्यटन हब के रूप में विकसित किया जाएगा। इस जनपद में पर्यटन की काफी संभावना हैं, यदि पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तो जनपद के लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे और आर्थिक स्थिति मेें भी सुधार होेगा। उन्होंने कहा कि आगरावासियों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने हेतु 350 करोड़ रुपये की लागत से रबर डैम की स्थापना होगी। अगले कुछ महीनों में ही शहरवासियों को गंगा का शुद्ध जल की आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्व पटल पर अपनी पहचान रखने वाले आगरा में पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम से अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा सिविल टर्मिनल का निर्माण कराया जाएगा। इसके लिए प्रदेश सरकार ने 65 करोड़ रुपये भूमि अधिग्रहण हेतु जारी कर दिये हंै, जल्द ही यह कार्य प्रारंभ होगा। उन्होंने कहा कि 111 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन रिंग रोड का कार्य पूर्ण होने पर जनपदवासियों को ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत 15 साल से बदहाल अर्थव्यवस्था को ढर्रे पर लाने का काम 7 माह में किया गया। पहली बार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति छात्रों के खातों में छात्रवृत्ति की धनराशि सीधे भेजी गई। किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए उनका गेहूं समर्थन मूल्य पर खरीदा गया और शत-प्रतिशत भुगतान आर.टी.जी.एस. के माध्यम से कर बिचैलिया प्रथा समाप्त की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना किसी हीला-हवाली के लाभार्थी तक पारदर्शी तरीके से पहुंचे, यह सुनिश्चित किया जायेगा। यदि किसी के द्वारा इसमें अवैध धनराशि ली गई तो वह जेल तो जाएगा। पूर्व की सरकारों ने भ्रष्टाचार, जातिवाद, परिवारवाद का जहर घोलकर समाज को छिन्न-भिन्न करने का काम किया। वर्तमान सरकार ने सत्ता में आने के बाद 22 करोड़ प्रदेशवासियों की सुरक्षा का जिम्मा लिया। प्रत्येक प्रदेशवासी की सुरक्षा करना हमारा नैतिक दायित्व है। महिलाओं की सुरक्षा प्रदान करना हमारी सरकार की पहली प्राथमिकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह महत्वपूर्ण नहीं है कि ताजमहल किसने बनवाया। महत्वपूर्ण यह है कि ताज एक ऐतिहासिक, विश्व विख्यात इमारत है, जो देश के मजदूरों, कारीगरों की कला की अद्भुत निशानी है। इसकी रक्षा करना हम सब की जिम्मेदारी है।
जनसभा को सम्बोधित करते हुए उप मुख्य मन्त्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि जब हमनेे सत्ता की बागडोर संभालने के बाद विश्व की सबसे बड़ी कर्ज माफी की घोषणा की तो विपक्षियों ने उसका माखौल उड़ाया। देश के बड़े-बड़े अर्थशास्त्रियों ने एक साथ सरकारी खजाने से इतनी बड़ी रकम निकलने के बाद प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर सवालिया निशान उठाये, लेकिन वर्तमान सरकार ने सरकारी फिजूलखर्ची रोक कर इसे पूरा किया। आज पूरा विश्व किसान ़ऋण मोचन योजना की सराहना कर रहा है।
पर्यटन मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि प्रदेश में सत्ता संभालने के बाद सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में काम किया। पर्यटन को बढावा कम लागत से मिल सकता है, लेकिन इसके दूरगामी परिणाम सकारात्मक होंगे, यदि हम पर्यटकों कोे बेहतर सुविधाएं मुहैया करायेंगे। उन्हें प्रदेश में आने पर असुरक्षा की भावना नहीं होगी, उन्हें सम्मान मिलेगा तो पर्यटकों के आने में बढोत्तरी होगी, जिसका सीधा लाभ आगरा वासियों के साथ-साथ प्रदेश सरकार कोे भी मिलेगा। पशुधन मन्त्री एसपी सिंह बघेल ने आभार व्यक्त किया।
जन सभा को सांसद/अध्यक्ष, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग प्रो रामशंकर कठेरिया, विधायक योगेन्द्र उपाध्याय ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर सांसद चै. बाबूलाल, विधायक सर्वश्री जगन प्रसाद गर्ग, डा. जी.एस. धर्मेंश, हेमलता दिवाकर, रामप्रताप सिंह चैहान, महारानी पक्षालिका सिंह, महेश कुमार गोयल, जितेन्द्र वर्मा, चै. उदयभान सिंह सहित गणमान्य नागरिक व भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।
इस कार्यक्रम के पूर्व, मुख्यमन्त्री ने नगला पैमा में रबर चैकडेम प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया। उन्होंने शाहजहाॅं पार्क का पुनर्जीवीकरण एवं ताजमहल-आगरा किला के मध्य पैदल पथ वे का शिलान्यास किया। उन्होंने ताजमहल का अवलोकन एवं एसएसआई द्वारा ताज प्रेजेन्टेशन को देखा। उन्होंने ताजखेमा पर आयोजित स्कूली बच्चों की चित्रकला प्रतियोगिता के विजयी बच्चांे को पुरस्कृत किया। उन्होंने मुगल म्यूजियम प्रोजेक्ट के निरीक्षण के साथ ही साथ कलाकृति आॅडिटोरियम में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम को भी देखा।
मुख्यमंत्री जी ने कीठम में प्रेस को सम्बोधित करते हुए कहा कि लपका प्रथा को समाप्त करने तथा पर्यटकों के साथ दुव्र्यवहार करने वाले तत्वों के साथ कठोरता से कार्यवाही की जाये। विदेशी पर्यटक अतिथि हैं, उन्हें सुरक्षा देना राष्ट्रीय दायित्व के साथ ही साथ नैतिक दायित्व भी है। उन्हांेने कहा कि आगरा के लिए 2,600 करोड़ रुपये की लागत से गंगाजल परियोजना के अंतर्गत आगामी 6 माह में कार्य पूर्ण हो जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here