राजकीय महाविद्यालय सैक्टर 9 में युवा शक्ति स्लम स्कूल के 45 विद्यार्थियों ने दौरा किया तथा उच्च शिक्षा के बारे में जानकारी प्राप्त की। महाविद्यालय के प्राध्यापकों ने सुविधा हीन बच्चों का स्वागत किया तथा महाविद्यालय के पुस्तकालय, कामर्स ब्लाॅक, कम्प्यूटर लैब आदि का भ्रमण करवाया।
महाविद्यालय की प्राचार्या डाॅ. इन्दु जैन ने कहा कि नन्हे बच्चे हमारे देश का भविष्य है। यदि हम इन बच्चों का संरक्षण कर सके तभी हमारा देश सुरक्षित हो सकेगा। उन्होंने सभी देशवासियों को अपनी नेक कमाई का कुछ हिस्सा स्लम क्षेत्र में रहने वाले गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए दान करने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास सुविधाएं हैं उन्हेें अपनी सुविधाएं सुविधाहीन लोगों के साथ बांटनी चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों को पटाखारहित दीवाली उत्सव मनाने का संदेश दिया। 
इस अवसर पर युवा शक्ति स्लम स्कूल के संस्थापक टींकू कुमार ने कहा कि उच्च शिक्षा हासिल करना इस देश के सभी बच्चों का अधिकार है। स्लम में रहने वाले बच्चों को भी उच्च शिक्षा की महत्वता के बारे में जानकारी होनी चाहिए। इसी कारण से इन बच्चों को महाविद्यालय का दौरा करवाया गया है। वास्तव में यह एक सपना है जो युवा शक्ति स्कूल द्वारा इन बच्चों के लिए देखा गया है। उन्होंने बताया कि स्कूल द्वारा प्रतिदिन शाम चार से सात बजे तक कक्षाएं लगाई जाती हैं जिसमें 75 बच्चे मौलिक शिक्षा हासिल करते हैं।
इस अवसर पर महाविद्यालय के सभी प्राध्यापकों ने सुविधाहीन बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। स्लम स्कूल के अध्यापक प्रीति सक्सेना, सोनिया, खुशबू और स्वाति ने महाविद्यालय प्रशासन का उनके सहयोग के लिए धन्यवाद प्रकट किया।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhiNCRnews.in bureau

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here