चीन निर्मित सामानों के विरोध में स्वदेशी जागरण मंच के बैनर तले चल रहे अभियानों में तेजी आ गयी है। शुक्रवार को पूरे विभाग में लगभग एक दर्जन से भी अधिक विभिन्न कार्यक्रम किये गए। कुछ  स्थानों पर  चीनी सामान के विरोध में अपील करते पत्रक बांटे गए तो कुछ स्कूलों में बच्चों को जागरूक किया गया कि किस तरह चीन के सामान से हमारे देश को नुकसान हो रहा है।
गुरुग्राम के सेक्टर सात स्थित विवेकानंद स्कूल में आर एस एस  गुरुग्राम विभाग के  प्रचारक शिव कुमार ने विधार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि चीन को सभी तरीके से कमजोर करना वर्तमान समय और परिस्थितियों की मांग हैं। क्योंकि चीन ही हमारे देश में घटिया सामान बेचकर हमे आर्थिक रूप से कमजोर करने के फ़िराक में है , लेकिन भारत के लोग समझ गए हैं कि चीन के सामान का बहिष्कार करके हम उसे कमजोर कर सकते हैं।  शिव कुमार ने कहा कि बच्चों को अपने माता पिता से देशी सामान खरीदने के लिए कहना होगा।  उन्हें किसी भी विदेश सामान को खरीदने के लिए बच्चे मजबूर न करें।
प्रचारक ने कहा कि कुछ साल पहले तक हमारे त्यौहार हम अपने देशी और पारम्परिक तरीके से मनाते थे , लेकिन अब हमारे हर त्यौहार पर चीन के सामान ने कब्ज़ा कर लिया है।  इसलिए बच्चों और युवाओं को आगे आकर चीन के सम्मान का विरोध करना होगा।  उन्होंने कहा कि हमें आस पास के दुकानदारों को भी समझाना होगा कि चीनी सामान न बेचें।
अशोक विहार – २ के  महर्षि स्कूल में बच्चों को पहले पत्रक बांटे गए फिर यहाँ उन्हें  सेवा भारती के प्रान्त अध्यक्ष बुध सिंह ने चीनी सामान से हो रहे हर प्रकार के नुकसान से अवगत कराया।  अशोक विहार के ही एक स्कूल में बलवान शर्मा और टीम ने स्टीकर बांटें। उधर संघ की दृष्टि से गुरुग्राम विभाग  में ही पड़ने वाले  नूह जिले के मेवात मॉडल स्कूल में एम डी ए  चेयरमैन खुर्शीद राजाक ने सभी बच्चों को चीनी सामान न खरीदने की शपथ दिलाई। इसी तरह डी एल एफ और बादशाहपुर के स्कूलों में भी चीन के सामान के विरोध में कार्यक्रम हुए।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhiNCRnews.in bureau

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here