गुरूग्राम, 23 अगस्त, 2017: हैपनिंग हरियाणा सम्मिट तथा प्रवासी हरियाणा दिवस के बाद अब गुरुग्राम में डिजीटल हरियाणा सम्मिट का आयोजन करने की तैयारियां हो रही हैं। गुरुग्राम का नाम आईटी के क्षेत्र में भारतवर्ष तथा दुनिया के दूसरे देशों में विख्यात है, इसलिए प्रदेश में पहली बार आयोजित की जा रही डिजीटल हरियाणा सम्मिट के लिए गुरुग्राम का चयन राज्य सरकार द्वारा किया गया है। यह एक दिवसीय सम्मिट गुरुग्राम के होटल लीला में 15 सितंबर को होगी।प्रदेश के इतिहास में पहली बार आयोजित हो रही इस डिजिटल हरियाणा सम्मिट की तैयारियों को लेकर आज हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चण्डीगढ से वीडियों कांफे्रंसिंग के माध्यम से गुरुग्राम के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

गुरुग्राम की तरफ से मण्डल आयुक्त डा. डी सुरेश, उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, पुलिस उपायुक्त टै्रफिक सिमरदीप सिंह ने भाग लिया। इस सम्मिट का आयोजन करने के लिए राज्य सरकार की तरफ से सूचना प्रौद्योगिकी अर्थात् आईटी विभाग नोडल विभाग है। आईटी विभाग हरियाणा के प्रधान सचिव देवेंद्र सिंह ने वीडियों कांफे्रंसिंग में अवगत करवाया कि इस एक दिवसीय सम्मिट के लिए नैसकॉम इंवेंट पार्टनर है तथा केपीएमजी  को नॉलेज पार्टनर बनाया गया है।

देवेंद्र सिंह ने बताया कि सम्मिट प्रात: 9:30 बजे से सांय 7:30 बजे तक चलेगी, जिस दौरान हैपनिंग हरियाणा सम्मिट की तरह उद्घाटन व समापन सत्र के अलावा, सात टेक्निकल् सत्र आयोजित किए जाएंगे। टेक्निकल् सत्र समानांतर चलेंगे। सम्मिट के  माध्यम से गुरुग्राम को देश में महत्वपूर्ण आईटी हब के तौर पर प्रोजैक्ट किया जाएगा। इसके अलावा, हरियाणा को देश का अगला ईएसडीएम अर्थात् इलैक्ट्रोनिक सिस्टम डिजाइन एण्ड मन्युफैक्चरिंग हब के रूप में प्रेषित किया जाएगा क्योंकि इस क्षेत्र में अपार रोजगार की संभावनाएं हैं।

डिजीटल सम्मिट में एक-एक सत्र भविष्य की तकनीकों के लिए आवश्यक स्किल, हरियाणा में ड्राईविंग जीयो गवर्नेंस की नई शुरूआत, नेशनल ऑप्टीकल फाईबर नेटवर्क (एनओएफएन) का प्रयोग करके प्रदेश के 2.2 करोड़ लोगों को ऑनलाईन सेवाओं का लाभ पहुंचाने, डिजीटल गवर्नेंस अपनाकर प्रदेश को डिजीटल राज्य में परिवर्तित करने तथा स्टार्टअप्स के लिए भी होंगे।

देवेंद्र सिंह ने गुरुग्राम के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह से कहा कि वे बाहर से आने वाले अतिथियों की सुविधा के लिए उनके साथ लायजन ऑफिसर लगाएं जो एचसीएस अधिकारी या एमडीआई के विद्यार्थी हो सकते हैं। यह भी बताया गया कि इस सम्मिट में बड़ी-बड़ी आईटी और संचार की कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों को आंमत्रित किया गया है। इनके अलावा, भारत सरकार के इन विभागों से संबंधित सचिव भी सम्मिट में पधारेंगे।

आज की वीडियों कांफेंरसिंग में चण्डीगढ़ में मुख्यमंत्री के साथ हरियाणा के मुख्य सचिव डी एस ढेसी, राजस्व विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव केसनी आनंद अरोड़ा, पर्यटन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव वी एस कुण्डु, आईटीआई एवं स्किल डवलेपमेंट विभाग के प्रधान सचिव टी सी गुप्ता, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. राकेश गुप्ता, आईटी विभाग के प्रधान सचिव देवेंद्र सिंह, हारट्रोन के प्रबंध निदेशक विजेंद्र सिंह , सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग के निदेशक टी एल सत्यप्रकाश उपस्थित थे जबकि गुरुग्राम में मण्डलायुक्त डा. डी सुरेश, उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, पुलिस उपायुक्त सिमरदीप सिंह, फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त हनिफ कुरैसी, आईटी विभाग  के प्रबंध एम के सरदाना, नैसकॉम से लीनिका व चेतन, हारट्रोन से संजीव कालिया, नगराधीश रोहित यादव, एनआईसी की डीआईओ अंजलि धींगड़ा भी थे।

-Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhiNCRnews.in bureau

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here