कानपुर नगर, 1 मई 2017: कानपुर मैट्रो के कार्य को शुरू किये जाने के उपरान्त पालीटेक्निक परिसर स्थित वृक्षों को हटाने का निर्णय तत्काल प्रभाव से लिया गया जिसकी अनुमति वन विभाग से ली जा चुकी है ताकि वहा बनने वाले भवनों में कोई कठिनाई न हो, इसके साथ ही पालिटेक्निक परिसर में पुराने भवनों के ध्वस्तिकरण मूल्यांकन 20 मई तक सम्पन्न कराने के निर्देश पीडब्ल्यू विभाग के अधिकारियों को दिये। मैट्रो कार्यालय के लिये गुरुदेव स्थित वस्त्र भवन को आरम्भ करने का भी निर्णय लिया।
उक्त निर्देश मंडलायुक्त, पी०के० महान्ति ने अपने शिविर कार्यालय में आयोजित कानपुर मैट्रो की बैठक में उपस्थित अधिकारियों दिये। उन्होंने निर्देशित किया कि कानपुर मैट्रो के रूट नंबर एक जो आईआईटी से नौबस्ता तक जाता है, डिपो के लिये चिन्हित की गई पालिटेक्निक की 40 एकड़ भूमि में निर्माण किया जाना है के लिए वर्तमान में पॉलिटेक्निक का नया भवन इसी परिसर में लगभग 10 एकड़ भूमि में बनाया जाना है लेकिन आ रही बाधाओं को देखते हुये बैठक में मंडलायुक्त ने निर्णय लिया कि अब नया पालिटेक्निक भवन का निर्माण उसके वर्तमान में संचालित पाठ्यक्रम को दृष्टिगत रखते हुए निर्धारित मानकों के अनुसार सर्वोदय नगर स्थित आईटीआई परिसर में किया जायेगा, ताकि उन्हें कार्य में किसी प्रकार की बाधा न हो।
उन्होंने बैठक में निर्देशित किया कि पालिटेक्निक परिसर में 25 – 30 परिवार आवासित है जिनको स्थानन्तरित करने के लिय लखनऊ मैट्रो ने जो प्रतिक्रिया अपनाई गई है की योजना के अनुसार इन परिवारों को परिसर से बाहर किराये पर रखा जाये और इसका एक वर्ष का किराया एल० एम० आर० सी० द्वारा वहन किया जाये , इस प्रक्रिया के संदर्भ में मण्डलायुक्त ने यह भी निर्णय लिया कि आवासित लोग अपनी सुविधानुसार बाहर आवास भी किराये पर ले सकते है जिसका खर्च एल0एम0आर0सी0 द्वारा किया जायेगा।
मण्डलायुक्त ने बैठक में निर्णय लिया कि मॉल रोड के निकट नानाराव पार्क के नीचे भू भाग से मैट्रो को जाना है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण का क्वीन्स मैमोरियल वेल स्थित है पुरातत्व विभाग के नियम के अनुसर सम्पूर्ण क्षेत्र संरक्षित होता है और संरक्षित इमारत से 100 मीटर की दूरी तक निर्माण भी प्रतिबंधित होता है लेकिन यह मैट्रो एलाइनमेंट स्मारक से लगभग 180 मीटर दूरी पर स्थित है, लेकिन पार्क के नीचे से इस रूट को जाना है अत : उन्होंने बैठक में निर्मण लिया कि कानपुर मैट्रो के मार्ग को देखते हुये अन्य शहरों की भाती नियम में शिथिलता देने के लिये केंद्र सरकार को उनके द्वारा पत्र लिखा जाये और व्यक्तिगत रूप से सम्पर्क कर शिथिलता प्राप्त की जाये।
उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि कानपुर मैट्रो का कार्यालय जो वस्त्र भवन में कार्यरत होगा वस्त्र भवन के प्रबंधक एवं एलएमआरसी के साथ तत्काल अनुबंध कर ले ताकि कार्यालय की साज सज्जा वह अपने हिसाब से कर सकें। मण्डलायुक्त ने यह भी निर्देशित किया कि मैट्रो प्रोजेक्ट 5 वर्ष में पूरा कर लिया जाये।
बैठक में जिलाधिकारी सुरेन्द सिंह, कुमार केशव एमडी लखनऊ मैट्रो, समन्वयक, नीरज श्रीवास्तव , सचिव केडीए, वी के सिंह, मुख्य अभियन्ता केडीए तथा कटाई सूत मिल के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here