एटा, 1 मई 2017: जिलाधिकारी अमित किशोर ने जनपद एटा का कार्यभार ग्रहण करते ही अपनी प्राथमिकताओं में अधिकारियों कर्मचारियों को संदेश दे दिया था कि वह जनशिकायतोें के प्रति हमेशा से ही संवेदनशील रहे हैं। तभी तो अगले दिन से ही जनता दर्शन का स्वरूप बदलते हुये सभाकक्ष में सभी विभागों के नोडल कर्मचारियों के साथ प्रातःकाल ठीक 10.00 बजे से ही उपस्थित होकर न्याय की आस में दूर-दराज से आये आम जनमानस को बडी ही गम्भीरता एवं संवेदनशीलता के साथ जनसुनवाई करते हैं। जिलाधिकारी ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को कडे निर्देश भी दिये हैं कि वह नियमित रूप से अपने-अपने कार्यालय में उपस्थित होकर प्रातः 10.00 बजे से 12 बजे तक कार्यालय आये प्रत्येक व्यक्ति की समस्या शिकायतों को सुन गुणवत्तापरक निस्तारण सुनिश्चित किया जाये।

जिलाधिकारी अमित किशोर का कहना है कि हम सभी का दायित्व है कि जनता की शिकायतों को सुन तत्परता के साथ गुणवत्तापरक निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि मुख्यमंत्री जी, मण्डलायुक्त तथा जनपद में डीएम के पास आम जनमानस का शिकायत लेकर पहुॅचना यह परिलक्षित करता है कि संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी अपने विभाग से संबंधित दायित्वों, कर्तव्यों के प्रति संवेदनशील नहीं है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में नई सरकार का गठन हुआ है, स्वयं मुख्यमंत्री जी एवं मुख्य सचिव जनशिकायतों, परिवादों के समयबद्व निस्तारण हेतु विशेष बल दे रहे हैं और इसी के चलते प्रतिदिन अधिकारियों को 10 बजे से 12 बजे तक दफ्तर में बैठ कर उपस्थित आये नागरिकों की शिकायतों का निस्तारण करने के आदेश हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में भूमि पर अवैध कब्जों, पेंशन, राशन न मिलने, विभिन्न प्रकार के कार्ड बनाये जाने, पट्टा आवंटन, अतिक्रमण किये जाने, पैमाइश कराये जाने, उत्पीडन किये जाने आदि से संबंधित शिकायतें ज्यादा प्राप्त हो रहीं हैं।

उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों को कडे निर्देश दिये हैं कि वह क्षेत्र में भ्रमण कर जनता से संवाद स्थापित करें, प्राप्त शिकायतों का मौके पर जाकार निरीक्षण करें, भूमि विवाद से जुडी शिकायतों का राजस्व टीम एवं पुलिस के साथ उभय पक्षों को सुन निस्तारित किया जाये।

आयोजित जनता दर्शन में जिलाधिकारी अमित किशोर के साथ एडीएम वित्त एवं प्रशासन द्वारा जनशिकायतों को सुना गया। इस अवसर पर सभी विभागों के नोडल कर्मचारी भी उपस्थित रहे।

एटा: जिलाधिकारी अमित किशोर ने जनपद एटा का कार्यभार ग्रहण करते ही अपनी प्राथमिकताओं में अधिकारियों कर्मचारियों को संदेश दे दिया था कि वह जनशिकायतोें के प्रति हमेशा से ही संवेदनशील रहे हैं। तभी तो अगले दिन से ही जनता दर्शन का स्वरूप बदलते हुये सभाकक्ष में सभी विभागों के नोडल कर्मचारियों के साथ प्रातःकाल ठीक 10.00 बजे से ही उपस्थित होकर न्याय की आस में दूर-दराज से आये आम जनमानस को बडी ही गम्भीरता एवं संवेदनशीलता के साथ जनसुनवाई करते हैं। जिलाधिकारी ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को कडे निर्देश भी दिये हैं कि वह नियमित रूप से अपने-अपने कार्यालय में उपस्थित होकर प्रातः 10.00 बजे से 12 बजे तक कार्यालय आये प्रत्येक व्यक्ति की समस्या शिकायतों को सुन गुणवत्तापरक निस्तारण सुनिश्चित किया जाये।

जिलाधिकारी अमित किशोर का कहना है कि हम सभी का दायित्व है कि जनता की शिकायतों को सुन तत्परता के साथ गुणवत्तापरक निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी, मण्डलायुक्त तथा जनपद में डीएम के पास आम जनमानस का शिकायत लेकर पहुॅचना यह परिलक्षित करता है कि संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी अपने विभाग से संबंधित दायित्वों, कर्तव्यों के प्रति संवेदनशील नहीं है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में नई सरकार का गठन हुआ है, स्वयं मुख्यमंत्री जी एवं मुख्य सचिव जनशिकायतों, परिवादों के समयबद्व निस्तारण हेतु विशेष बल दे रहे हैं और इसी के चलते प्रतिदिन अधिकारियों को 10 बजे से 12 बजे तक दफ्तर में बैठ कर उपस्थित आये नागरिकों की शिकायतों का निस्तारण करने के आदेश हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में भूमि पर अवैध कब्जों, पेंशन, राशन न मिलने, विभिन्न प्रकार के कार्ड बनाये जाने, पट्टा आवंटन, अतिक्रमण किये जाने, पैमाइश कराये जाने, उत्पीडन किये जाने आदि से संबंधित शिकायतें ज्यादा प्राप्त हो रहीं हैं।

उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों को कडे निर्देश दिये हैं कि वह क्षेत्र में भ्रमण कर जनता से संवाद स्थापित करें, प्राप्त शिकायतों का मौके पर जाकार निरीक्षण करें, भूमि विवाद से जुडी शिकायतों का राजस्व टीम एवं पुलिस के साथ उभय पक्षों को सुन निस्तारित किया जाये।

आयोजित जनता दर्शन में जिलाधिकारी अमित किशोर के साथ एडीएम वित्त एवं प्रशासन द्वारा जनशिकायतों को सुना गया। इस अवसर पर सभी विभागों के नोडल कर्मचारी भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here