गुरुग्राम, April 3: मानेसर गांव में एलिवेटिड हाई-वे का निर्माण करवाने की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे लोगों के एक प्रतिनिधि मण्डल ने आज उपायुक्त हरदीप सिंह को ज्ञापन सौंपा जिसमें उन्होंने 5 अपै्रल को राष्ट्रीय राजमार्ग  नंबर-8 जाम करने की चेतावनी दी है। इस पर उपायुक्त ने अनशन पर बैठे लोगों से अपील की है कि वे हाईवे जाम ना करें, साथ ही आश्वासन दिया है कि उनकी बात राज्य सरकार के माध्यम से केंद्र सरकार तक पहुंचाई जाएगी।

उपायुक्त ने अनशनकारियों की बात को ध्यान से सुना और उन्हें समझाया कि वे ऐसा कोई कार्य ना करें जिससे कानून व्यवस्था बिगड़े क्योंकि ऐसा करना किसी के हित में नहीं होगा। उन्होंने प्रतिनिधि मण्डल को आश्वासन दिया कि उनकी बात हरियाणा सरकार तक पहुंचाई जाएगी तथा साथ ही केंद्र में मंत्री व गुरुग्राम के सासंद राव इंद्रजीत सिंह को भी अवगत करवाया जाएगा। उन्होंने अनशनकारियों से आग्रह किया कि वे हाईवे पर टै्रफिक को बाधित ना करें, अन्यथा जिला प्रशासन व पुलिस को मजबूरन सख्त कदम उठाने पड़ेगे। उपायुक्त ने कहा कि अपनी जायज मांगों के लिए लोकतांत्रिक तरीके से शांतिपूर्ण ढंग से धरना व प्रदर्शन किया जा सकता है, लेकिन उससे किसी दूसरे व्यक्ति के कार्य में बाधा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जब तक शांति से समाधान होने की गुंजाईश हो तब तक शांति से ही प्रयास करने चाहिए।

गौरतलब है कि गत् 10 फरवरी को मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा रिमोट से चण्डीगढ से मानेसर में राजकीय महाविद्यालय की आधारशिला रखने के कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह मानेसर गए थे , उस समय भी ग्रामीणों द्वारा उनके समक्ष यह मांग उठाई गई थी। इस पर राव नरबीर सिंह ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि वे केंंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री श्री  नितिन गडकरी से मिलकर मानेसर में एलिवेटिड हाईवे बनवाने का आग्रह करेंगे। ग्रामीणों का कहना है कि हाईवे गांव के बीच से गुजरने के कारण सडक़ दुर्घटनाओं में काफी संख्या में ग्रामीणों की जान जा चुकी है, इसलिए एलिवेटिड हाईवे बनाना अत्यंत आवश्यक है। इस मांग को लेकर मानेसर गांव के लोग केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह तथा नितिन गडकरी से भी भेंट कर चुके हैं। अब ग्रामीणों ने उपायुक्त को जो ज्ञापन दिया है उसमें स्पष्ट तौर पर कहा है कि आसपास के क्षेत्र के लोगों के सहयोग से 5 अपै्रल को मानेसर में हाईवे जाम किया जाएगा और एलिवेटिड हाईवे निर्माण का लिखित आश्वासन मिले बगैर जाम नहीं खोला जाएगा। इस बीच जिला प्रशासन व पुलिस ने हाईवे पर टै्रफिक सुचारू रखने की पूरी तैयारियां कर ली हैं। उपायुक्त हरदीप सिंह ने कहा है कि अनशनकारियों की मांग को राज्य सरकार तक पहुंचाया जाएगा परंतु किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नही दी जा सकती।

Farmers are protesting against elevated highway; representational pic

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here